जयपुर में सम्मानित हुए चंपारण के लाल डॉ दिवाकर राय

जयपुर में सम्मानित हुए चंपारण के लाल डॉ दिवाकर राय

अतुल कुमार

बेतिया- चंपारण के जाने-माने साहित्यकार डॉ दिवाकर राय को श्रेष्ठ कहानी पुरस्कार से जयपुर में सम्मानित किया गया है। बता दें कि साहित्य समर्था पत्रिका की ओर से आयोजित अखिल भारतीय डॉ कुमुद टिक्कू कहानी प्रतियोगिता में डॉ राय ने अपनी कहानी 'गर्व की अनुभूति' को प्रेषित किया था। प्राप्त 117 प्रविष्टियों में से उनकी इस प्रविष्टि को प्रतियोगिता में श्रेष्ठ कहानी पुरस्कार के लिए चयनित किया गया। जयपुर के पिंक सिटी प्रेस क्लब में आयोजित सम्मान समारोह में डॉ राय को  मणिमाला,शाल, सम्मान पत्र के अतिरिक्त ₹3000 की नगद राशि देकर भारत भारती पुरस्कार से सम्मानित कथा लेखिका डॉ सूर्यबाला, व्यास सम्मान से सम्मानित साहित्यकार श्री नंद भारद्वाज, साहित्य समर्था पत्रिका के संपादक नीलिमा टिक्कू, राजस्थान मुख्यमंत्री के ओएसडी व वरीय साहित्यकार डॉ फारुख आफरीदी तथा इंडो जर्मन सोसायटी के चेयरपर्सन प्रो.  पवन सुराणा ने सामूहिक रूप से सम्मानित किया।
                    दिवाकर राय के इस कर्तृत्व से चंपारण के साहित्यकारों में हर्ष है। उनकी इस उपलब्धि पर संघ के जिला संघचालक राज किशोर प्रसाद ने बधाई दी है। ज्ञातव्य हो कि दिवाकर राय भोजपुरी में गोल्ड मेडलिस्ट है।उनकी एक एकांकी विश्व हिन्दी सचिवालय,मारिशस द्वारा आयोजित अन्तरराष्ट्रीय एकांकी प्रतियोगिता में द्वितीय पुरस्कार जीत चुकी है। उनकी कई किताबें प्रकाशित हो चुकी हैं। उनके द्वारा लिखित प्रसिद्ध नाटक 'नीली आग' का लोकार्पण उत्तर प्रदेश के पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ हृदयनारायण दीक्षित ने किया था। उनकी इस उपलब्धि पर चंपारण के साहित्यकारों में उन्हें बधाई दी है। बधाई देने वालों में महाराजा पुस्तकालय के पुस्तकालयाध्यक्ष पंडित चतुर्भुज मिश्र, प्रो. रविंद्र शाहाबादी, डॉ.जगमोहन कुमार, पाण्डेय धर्मेंद्र शर्मा, चंद्रिका राम, जय किशोर जय, अरुण गोपाल, रविंद्र किशोर राय समेत कई साहित्यकार का नाम शामिल है।